अमृत के जैसा है लहसुन खाली पेट खाना | Lahsun Ke Fayde

You are currently viewing अमृत के जैसा है लहसुन खाली पेट खाना | Lahsun Ke Fayde

Lahsun Ke Fayde:– लहसुन देखने में सफेद रंग का होता है और भारतीय व्यंजन में लहसुन को जरूर शामिल किया जाता है। लहसुन का सेवन कई तरह के किया जा सकता है। 

कई लोग इसे सब्जी में डालकर खाते हैं। जबकि कई लोग इसकी चटनी बनाकर खाया करते हैं। लहसुन का जिक्र आयुर्वेद में भी किया गया है और आयुर्वेद के अनुसार लहसुन खाने से शरीर को काफी फायदे मिलते हैं। 

इसलिए आप अपने खाने में लहसुन को जरूर शामिल करें। हालांकि लहसुन के फायदे क्या होते हैं इसके बारे में काम कम लोगों को जानकारी होती है।

लहसुन एलियम (प्याज़) परिवार का एक पौधा है। लहसुन दुनिया के कई हिस्सों में बढ़ता है और इसकी मजबूत गंध और स्वादिष्ट स्वाद के कारण खाना पकाने में एक famous घटक है। 

हालांकि, पहले के ज़माने में लहसुन का मुख्य उपयोग इसके health और औषधीय गुणों के लिए था। 

बहुत कम लोग लहसुन के गुणों से अवगत हैं, शायद लहसुन की अहमियत कोई इसलिए नहीं जनता की क्यूंकि यह आसानी से और सस्ते दामों पर मिल जाता हैं। लोगो को महंगी चीजों पर ज्यादा भरोसा होता हैं।

उदहारण के लिए ड्रैगन फ्रूट और कीवी फ्रूट को ही देख लें। मैं यह नहीं कह रहा की यह दोनों फल बेकार है या गुणवान नहीं है। पर लोगों के बीच इसलिए ज्यादा प्रचिलित हैं क्यूंकि यह विदेशी फल हैं, ज्यादा महंगे हैं और कम जगह उपलब्ध हैं।

सर्दी के दिनों में ठंड लगना एक आम बात है, जब आपके शरीर के साथ कोई समस्या होती है, तब आपका शरीर खुद इस बात का इशारा देता है।

ऐसी छोटी-बड़ी समस्याओ में लहसुन का सेवन बहुत लाभदायक साबित होता है। 

लहसुन में पोटेशियम की मात्रा सबसे अत्यधिक पायी जाती है। इसमें एंटी-आक्सीडेंट, एंटी-फंगल, एंटी वायरल वाले औषधीय तत्व होते हैं जिसे खाने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और कई तरह के संक्रमण से बचाव होता है। 

इसका स्वाद तीखा होता है और महक तेज होती है। लहसुन में ऐसी कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो आपकी सेहत के लिए वरदान साबित हो सकते हैं लहसुन में अनेकों तत्व शामिल होते है। 

Table of Contents

लहसुन में मौजूद पौष्टिक तत्व (Garlic Nutritional Value in Hindi)

पोटेसियम-Potassium (Mg) -36.9%

मैंग्नीज-Manganese (Mg) – 23%

कार्ब्स-Carbs (Mg) – 21 %

विटामिन बी-6 -Vitamin-B6 (Mg) -17%

विटामिन सी-Vitamin C (Mg) – 15%

फोसफोरस-Phosphorus, P (mg) – 13.77%

सेलेनियम-Selenium (Mg) – 6%

मैग्नेशियम-Magnesium (Mg) – 2.25%

सोडियम-Sodium, Na (Mg) -1.53%

मिनरल-Minirul (Mg) -1%

प्रोटीन-Protein(Mg) – 0.57%

फाइबर/रेशा-Fiber (Mg) – 0.6%

आयरन-Iron (Mg) – 0.3 %

फैट-fat (Mg) – 0.1 %

लहसुन खाने के फायदे (Benefits of garlic in hindi)

लहसुन खाने के फायदे (Benefits of garlic in hindi)

लहसुन ठंड के दिनों में हमारे लिए बेहद लाभकारी साबित होते है, “कच्चा लहसुन खाने से क्या फायदा है?” इस सवाल का जवाब जानने के लिए, आगे विस्तार से चर्चा करते है –

हाई बीपी में लहसुन के फायदे-Garlic Reduces Blood Pressure in Hindi

Health Expert के अनुसार, जिन लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या है उनके लिए खाली पेट लहसुन का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। 

ये ब्लड सर्कुलेशल को बढ़ाने का काम करता है। साथ ही heart की सेहत के लिए भी लहसुन का सेवन करना फायदेमंद होता है। 

शरीर को गर्म रखता है (Lahsun Ke Fayde)

लहसुन सर्दियों में, और भी ज्यादा फायदेमंद होता है। आयुर्वेद के मुताबिक इसके गर्म होने की वजह से यह सर्दियों में हमारे शरीर को गर्म रखने में मदद मितली है। 

दाल और सब्जियों में लहसुन मिलाकर या फिर सुबह-सुबह एक कली कच्चे लहसुन की खाने से सर्दियों में हमारा शरीर गर्म महसूस करता है और हम सर्दी-जुकाम से भी बचे रहते हैं। 

ठंड के दिनों में अधिकतर घरों में लहसुन की चटनी खाई जाती है। यह एक बहुत ही प्रसिद्ध राजस्थानी व्यंजन है। यह खाने में बहुत स्वादिष्ट और लाभकारी होता है, क्योंकि ठंड में लहसुन की प्रकृति गरम मानी जाती है। 

एलर्जी में राहत देता है-Garlic Used for Allergies in Hindi

ठंड के मौसम में अक्सर लोगो की त्वचा में Allergy हो जाती है जिसे ठीक करने के लिए लहसुन आसान सामाधान है। 

लहसुन में एंटी इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जिससे एलर्जी ठीक होती है. रोजाना लहसुन के सेवन से एलर्जी के निशान और चकते दूर हो जाते हैं.

सर्दी और जुकाम का लहसुन से इलाज-Garlic Helps in Cold and Cough in Hindi

लहसुन में औषधीय गुण होते हैं, इसका सेवन करने से सर्दी और जुकाम से बचा जा सकता है. इसके लिए हर रोज सुबह 1 से 2 कली कच्ची भी खा सकते हैं। 

इसका सेवन खाली पेट करने से ज्यादा फायदा होता है, सर्दियों के दिनों में लोगों को सर्दी जुकाम सबसे ज्यादा होता है लेकिन लहसुन खाने से ये समस्या दूर हो सकती है। 

साथ ही लहसुन खाने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है. बीमार होने की सम्भावना भी कम हो जाती हैं। 

इसके सेवन से ठंड भी कम लगती है. लहसुन खाने से सर्दी और फ्लू से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है. अगर आप ठंड के मौसम में फ्लू का शिकार हो जाते हैं, तो लहसुन की चाय पीने या खाली पेट दो लहसुन खाने से आपको थोड़ी राहत मिल सकती है। 

कई लोगो में जुखाम होने पर शरीर दर्द करने लगता हैं लेकिन इस दर्द में लहसुन की कुछ कालियां खा कर राहत मिलती है।

लहसुन है पुरानी खांसी का आयुर्वेदिक इलाज 

अगर आप को सुखी और पुरानी ख़ांसी है तो आप लहसुन का regular सेवन करें तो आप को इसके खाने का लाभ जरूर मिलेगा। 

आप इसके छिलके को छीलकर लहसून को मुँह में रखते है तो मुँह में बनने वाले लार के साथ आप लहसुन के रस को निगल सकते है, कितनी भी पुरानी खाँसी हो इस प्रकिया को बार – बार करने से आपको फायदा जरूर पहुंचेगा।

हाइपोथायरायड में लहसुन कारगर साबित होता है 

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार, हाइपोथायराइड होने पर भी व्यक्ति को अधिक ठंड लगती है। हाइपोथायरायडिज्म तब होता है जब थायरायड ग्रंथि पर्याप्त मात्रा में थायराइड हार्मोन का उत्पादन नहीं कर पाती है। 

ये हार्मोन पाचन और तापमान को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। जब थायरायड ग्रंथि पर्याप्त थायराइड हार्मोन का उत्पादन नहीं कर पाती, तब शरीर की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि हाइपोथायरायड होने पर व्यक्ति को ठंड लगने के अलावा, थकान, डिप्रेशन, बालों का झड़ना, कब्ज, पीरियड्स में प्राब्लम्स आदि कई लक्षण देखने को मिल सकते हैं। ऐसे में सुबह और शाम कच्चा लहसुन खाने से फायदा मिलता है

एनीमिया में लहसुन राहत देता है (khali pet lahsun khane ke fayde)

अमेरिकन सोसायटी ऑफ हेमाटोलॉजी के अनुसार, एनीमिया एक रक्त विकार है जो तब होता है जब आपके शरीर में ऑक्सीजन को ले जाने के लिए पर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाएं नहीं होती। 

इससे आपके अंगों में रक्त का संचार कम होता है, जिससे आप ठंड महसूस करते हैं, विशेष रूप से आपके हाथों और पैरों में ये समस्या देखने को मिलती है। 

अन्य सामान्य Anemia लक्षणों में कमजोरी, थकान, चक्कर आना, सांस लेने में तकलीफ होना, छाती में दर्द और सिरदर्द आदि शामिल हैं। इन सभी समस्या को आप लहसुन का नियमित रूप से सेवन कर के ठीक कर सकते है!

सांस संबंधित समस्या को दूर करता है (kachcha lahsun khane ke fayde)

सांस से संबंधित समस्याओं के लिए आप लहसुन का सेवन कर सकते हैं। लहसुन की कली गर्म करके नमक के साथ खाने से लाभ मिलता है!

कानदर्द को ठीक करता है (lahsun khane ke fayde)

सर्दी में कान का दर्द, एक दर्दनाक परेशानी है जो Wax जमा होना या एलर्जी के होने से होती है।

ऐसे में सरसों के तेल में लहसुन का रस मिला कर गर्म कर के और ठंढा हो जाने पर कान में डालना चाहिए, इससे कान का दर्द ठीक हो जाता है यह नुस्खा 100 % कारगर है। 

दांत दर्द में असरदार है -Lahsun ke Fayde for Tooth Pain in Hindi

सर्दी में पीने का पानी ठंडा होने के कारण उसे पीने पर दांतों के मसल्स को प्रभावित करता है और दांत दर्द करने लगता है।

अगर आपके दांत भी सर्दी में दर्द करते है तो लहसुन की एक कली काफी फायदेमंद साबित हो सकती है.

मोटापा या चर्बी कम करता है-Lehsun for Weight Loss in Hindi

सर्दियों में सर्दी के कारण अनेको लोगो के क्रियाकलापों में कमी देखने को मिलती है जिसके कारण बैठे रहने से लोगो में मोटापा बढ़ने लगता है, और लोग मोटापे का शिकार होने लगते है। 

पेट की चर्बी और बढ़ते वजन से छुटकारा पाने में लहसुन का पानी कारगर उपाय है। ये ना केवल आपके शरीर में जमा Fat को घटाने का काम करेगा बल्कि सेहत संबंधी समस्याओं को भी दूर करने में मददगार है। 

लहसुन में फाइबर, कैल्शियम, विटामिन सी, Vitamin B-6 और मैंगनीज होता है। 

ये सभी पोषक तत्व शरीर में जमा एक्स्ट्रा चर्बी को घटाने का काम करते है लहसुन में मौजूद एलिसिन से फैट बर्निंग प्रॉसेस तेज होता है. इससे वजन कंट्रोल रखने में मदद मिलती है!

सर के डैंड्रफ को कम करता है (Garlic For Hair)

सर्दी के दिनों में डैंड्रफ की समस्या आम बात है, जिन लोगों को dandruff और झड़ते बालों की समस्या होती है वो लोग लहसुन के जूस का इस्तेमाल कर सकते हैं इससे बालो की समस्या से छुटकारा मिलता है!

दिल रहता है सेहतमंद-(Lahsun for Heart in Hindi)

विज्ञानिको के रिसर्च के अनुसार सर्दी के मौसम में दिल की परेशानिया गर्मी के मुकाबले जादा देखने को मिलती है। 

लहसुन दिल से जुड़ी बीमारियों अथवा अन्य परेशानियों के खतरों को दूर करता हैं। लहसुन खाने से खून का जमना कम किया जा सकता है और हार्ट अटैक जैसी प्रॉब्लम होने की सम्भावना कम हो जाती है।

महिलाओं के लिए लहसुन के लाभ

  • महिलाओं के हॉर्मोंस में गड़बड़ी की वजह से होने वाले रोगों में भी लहसुन का जूस काफी मददगार साबित होता है।
  • लहसुन के जूस को दूध में मिलाकर रोजाना सुबह पीने से महिलाओं में होने वाले बांझपन पर नियंत्रण किया जा सकता है।
  • पीरियड्स के दिनों में भी लहसुन बहुत अच्छा होता है।

आखिर क्यों दी जाती है खाली पेट लहसुन खाने की सलाह (lahsun ke fayde)

सुबह खाली पेट लहसुन खाने से वात रोग में आराम मिलता है ।

किसी को मुंह में लार कम बनने की problem है तो लहसुन की कलियां काट कर जीभ पर रगड़ने से ठीक हो जाती है ।

1) रोजाना (भोजन या कच्चा) लहसुन का सेवन करने से लहसुन में मौजूद एलिसिन के एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के कारण कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद मिलती है। यह रक्तचाप और ब्लड शुगर के स्तर को विनियमित करने के लिए भी फायदेमंद है।

2) लहसुन के गुण त्वचा को Free radicals के प्रभाव से बचाते हैं और कोलेजन डीपलिशन को धीमा करके त्वचा को लचीला बनाये रखने में मदद करते हैं|

3) लहसुन फंगल संक्रमण से प्रभावित त्वचा के लिए चमत्कार करता है और खुजली या एक्ज़िमा जैसी त्वचा की बीमारियों से राहत देता है|

4) दिन में 2-3 कच्चे या पके हुए लहसुन के टुकड़ो का सेवन करने से न केवल सर्दी ठीक होती है, बल्कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है|

5) एक रिसर्च के अनुसार लहसुन का तेल एंटी-इंफ्लेमेटरी के रूप में काम करता है। जोड़ों या मांसपेशियों में दर्द और सूजन पर लहसुन का तेल मलने से दर्द में राहत मिलती है|

6) लहसुन शारीरिक थकान, ठंड के कारण होनेवाली थकान, या किसी आय वजहों से होनेवाली थकान को दूर कर ऊर्जा को बढ़ाता है।

7) लहसुन को कुचलने से एलिसिन नामक यौगिक बनता है। इस में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सिडेंट क्रियाये है, जो हैवी वर्कआउट के कारण होनेवाली मांसपेशियों की क्षति को कम करती है। ये शरीर तनाव कम करते है, टेस्टोस्टेरोन बढ़ाते है और कोर्टिसोल कम करते हैं।

इसलिए, प्रति दिन 1-2 कलियों को खाने से मांसपेशियों को लाभ होता है।

पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ (Garlic Benefit For Sex Power)

  • मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए आप शहद और लहसून को खाने के बाद गर्म दूध का सेवन कीजिये आपकी क्षमता बढ़ जायेगी !
  • नपुंसकता दूर करने के लिए आप लहसुन को देशी घी में तल लीजिये तथा उसके बाद शहद में मिलाकर एक कांच की वरनी में भर के रख दीजिये ,फिर इसका सुवह साम सेवन करने से नपुंसकता दूर होती है !

शहद और लहसुन के फायदे (Lahsun Ke Fayde)

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद की एक रिपोर्ट के अनुसार खाली पेट लहसुन की एक कली खाने से ये फायदे मिलेते है। 

बता दें कि, लहसुन और शहद के मिश्रण को खाने से दिल तक जाने वाली धमनियों में जमी वसा निकल जाती है। जिससे Blood Circulation ठीक तरह दिल तक पहुंचता है। यह मिश्रण सर्दी-जुकाम के साथ ही साइनस की तकलीफ भी कम करता है।

  • एक चम्मच शहद में 2 या 3 कच्चे लहसुन पीसकर मिलाने के बाद इसका एक गिलास गर्म पानी के साथ सेवन करने से , वजन कम होता है तथा सर्दी जुकाम में भी वहुत लाभप्रद है !
  • शहद और लहसून को पीस कर सेवन करने से कोलस्ट्रोल कम होता है !
  • शहद और लहसून का सेवन करने से दिल की बिमारीयों का खतरा कम हो जाता है !

लहसुन खाने के नुकसान

लहसुन सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि यह हर situation में आपके लिए फायदेमंद हो।

लहुसन का consumption विभिन्न प्रकार की बीमारियों में नहीं करना चाहिए । यह आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

  • जब हीमोग्लोबिन कम हो – अगर आपके खून में हीमोग्लोबिन की कमी है, तो लहसुन का सेवन आपके लिए ठीक नहीं है। इसका कारण है हीमोलाइटिस एनीमिया, जो लहसुन के अधिक सेवन के कारण आपको अपनी चपेठ में ले सकता है
  • अगर आपको ब्लड प्रेशर की समस्या है तो – B.P की समस्या, खास तौर से लो ब्लडप्रेशर की शिकायत होने पर आपको लहसुन का सेवन कम कर देना चाहिए या फिर नहीं करना चाहिए। दरअसल लहसुन ब्लडप्रेशर को और भी कम कर सकता है जो आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं है।
  • गर्भावस्था – अगर आप प्रेग्नेंट हैं, तो आपको लहसुन का सेवन बहुत सोच समझ कर करना चाहिए। लहसुन की प्रकृति गर्म होती है और इसका अधिक सेवन गर्भपात के खतरे को बढ़ा देता है।
  • गर्भनिरोधक का इस्तेमाल – अगर आप महिला हैं, और गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन कर रही हैं तब भी आपके लिए लहसुन का अधिक सेवन हानिकारक हो सकता है। दरअसल ये दोनों मिलकर शरीर में अत्यधिक गर्मी पैदा करते हैं जो आपको नुकसान पहुंचा सकती है।
  • अल्सर – अगर आपको पेट में अल्सर की समस्या है, तब तो आपके लिए लहसुन का सेवन बेहद हानिकारक हो सकता है। इसलिए इसके सेवन से परहेज करें।
  • किसी भी सर्जरी से पहले –सर्जरी करवाने से पहले लहसुन का सेवन न करें क्योंकि इससे सर्जरी के दौरान ज्यादा ब्लीडिंग का खतरा रहता है।
  • होम्योपैथिक दवाइयां –अगर आप होम्योपैथिक दवाइयों का सेवन कर रहे है तो लहसुन से परहेज रखें क्योंकि इससे दवा का असर कम होता है लेकिन फिर भी एक बार होम्योपैथिक डॉक्टर से जरूर पूंछ लें।
  • एनीमिया-ज्यादा मात्रा में लहसुन खाने से हीमोलाइटिक एनीमिया यानी हीमोग्लोबिन की कमी हो सकती है।

एक दिन में कितना लहसुन खाना चाहिए?

लोगों के जहन में सवाल उठता है कि आखिरकार “लहसुन कितना खाना चाहिए?”

जानकारी के लिए मै आपको बता दूँ लहसुन एक गरम खाद्य पदार्थ है इसे जादा मात्रा में खाने से पेट में गर्मी की मात्रा बढ़ सकती है या जलन जैसी शिकायत हो सकती है। 

इसलिए सामान्य तौर पर लहसुन की 1 या 2 कलियां(Piece) ही खानी चाहिए! (1)

अगर आपको ये लेख (Lahsun Ke Fayde) अच्छा लगा हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा SHARE करिए।

इतनी लंबी पोस्ट लिखने मे बहुत रिसर्च, समय और मेहनत लगा है तो एक COMMENT या SUBSCRIBE तो बनता ही है। 

स्वस्थ रहें, खुश रहें💪😊

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply