तेज़ दांत के दर्द को बस 5 मिनट में करें छूमंतर-दांत दर्द की दवाई

You are currently viewing तेज़ दांत के दर्द को बस 5 मिनट में करें छूमंतर-दांत दर्द की दवाई

दांत दर्द की दवाई: आजकल दांतों की प्रॉब्लम बहुत ज्यादा बढ़ गई है या हम कहे की आज हर 10 में से 7 व्यक्तियों को दांतों की कोई न कोई समस्या होती ही है ; और ना सिर्फ बड़े- बुजुर्गो में बल्कि छोटे बच्चों में भी ये समस्या बहुत आम हो गई है | 

हमारी त्वचा और बालों की तरह हम भी अपने शरीर के अन्य हिस्सों से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाना चाहते हैं। 

अगर हमारे शरीर के एक हिस्से में भी दर्द हो तो हमारा पूरा शरीर बेचैन हो जाता है और यह दर्द हमारे चेहरे से भी बयान होता है। 

कभी-कभी दर्द इतना तेज हो जाता है कि रोगी दर्द के कारण न तो उठ सकता है, न लेट सकता है और न ही आराम करने के लिए चल सकता है।

और पढ़ें: बाल झड़ने से रोकने और फिर से उगाने के उपाय

सबसे आम बीमारी दांत दर्द है, जो किसी को भी प्रभावित कर सकता है, चाहे वह बच्चा हो, बूढ़ा हो या छोटा हो दांत दर्द सभी के लिए बड़ा ही तक्लीफ़देह होता है।

दांत दर्द न केवल हमारे मुंह में परेशानी का कारण बनता है बल्कि पूरे शरीर को भी प्रभावित करता है, दांत दर्द के विभिन्न कारण होते हैं, यह मसूड़ों की सूजन और विभिन्न संबंधित बीमारियों के कारण होता है;

यह दर्द अक्सर कुछ कठोर/सख्त चीज़ चबाने या मीठा खाने के बाद अपने दांतों को ब्रश न करने के कारण भी ये शुरू होता है। दांत दर्द, पेट की खराबी और सिरदर्द का कारण भी बन सकता है।

दांत दर्द के इलाज के लिए आपको हमेशा एक अच्छे डेंटिस्ट का चुनाव करना चाहिए और उसके निर्देशों का पूरी तरह से पालन करना चाहिए। अगर दिन में दांत दर्द होता है, तो आप डेंटिस्ट के पास जा सकते हैं। 

लेकिन अगर रात में भी ऐसा ही दर्द होता है, तो यह हमारे लिए एक बुरा सपना बन जाता है। ऐसे में हम कुछ घरेलू नुस्खों की मदद से दांत दर्द में तुरंत आराम(toothache emergency relief) पा सकते हैं।

Table of Contents

दांत दर्द कब होता है? (Toothache reasons)

Toothache and ear pain: दांत हमारे शरीर में एक (विशिष्ट) हड्डी है जिस पर मांस नहीं होता है। दांत के बीच में दांत का गूदा होता है। जिसमें कईधमनियां (रक्त शिराएं) होती हैं, और ये नसें बहुत संवेदनशील होती हैं। 

जब दांतों की सड़न के कारण कैविटी (जिसे हम कीड़े लगना कहते हैं) आदि हो जाते हैं, तो वो मसूड़ा प्रभावित होता है। 

यह कोमल और संवेदनशील हिस्सा अक्सर सूज जाता है। जब कुछ खाया या पिया जाता है, तो इस भोजन का एक छोटा सा हिस्सा दांत में छेद के माध्यम से मसूड़े में चला जाता है और उस हिस्से को प्रभावित करता है।

नतीजतन, हमें दर्द होता है (याद रखें कि भोजन या पेय जितना ठंडा या गर्म होगा, दर्द उतना ही तेज होगा)।

दांत दर्द के कारण (Toothache Causes)

दांतों में दर्द होने के बहुत से कारण हो सकते हैं, इनमें से कुछ प्रमुख कारणों के बारे में हम आपको बता रहे हैं।

मसूड़ों का कमजोर होना : मसूड़ों की ठीक से देखभाल ना करने और गलत ब्रश का इस्तेमाल करने से भी कई बार मसूड़ें कमजोर हो जाते हैं जो बाद में दांत दर्द का कारण बनते हैं। एक एडल्ट को इस वजह से यदि दांतों में दर्द है तो आप डोलो पेनकिलर ले सकते हैं।

दांतों में कीड़े लगने पर : दांतों में कीड़े लगना भी दर्द का कारण बन सकता है। इस स्थिति में आमतौर पर डेंटिस्ट को दिखाना ही सही रहता है लेकिन तत्काल रूप से दांत दर्द से राहत पाने के लिए डोलो 650 टैबलेट काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

दांत में चोट लगने पर : दांत दर्द का एक कारण चोट लगना भी हो सकता है। किसी भी कारण से दांतों में चोट लगने पर आपको असहनीय दर्द का अनुभव हो सकता है। चोट लगने पर दांत दर्द से निजात पाने के लिए डोलो 650 mg की एक से दो खुराक ले सकते हैं।

इसी तरह, यदि आपने डेन्टिस्ट से अपने दांतों को सीधा करवाया है, बदल दिया है या किसी दंत चिकित्सक द्वारा मरम्मत करवाई है, तो भी आपको इसी तरह की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। 

सिगरेट और अन्य दवाएं भी दांतों की समस्या पैदा कर सकती हैं।

दांत दर्द की अलग-अलग स्थितियां होती हैं। कभी-कभी यह अचानक उठ जाता है और रोगी को असहाय छोड़ देता है, लेकिन फिर रुक जाता है। 

कई बार ऐसा लगातार होता रहता है, रुकने का नाम भी नहीं लेता। अक्सर यह दर्द तब शुरू होता है जब आप लेटते हैं। 

ऐसा इसलिए क्योंकि जब हम लेटते हैं तो दांतों पर दबाव बढ़ जाता है, क्योंकि प्रभावित दांत पहले ही क्षतिग्रस्त हो चुका होता है, इसलिए जैसे ही हम लेटते हैं, उस जगह पर दबाव पड़ता है और यह दर्द शुरू हो जाता है।

आपके लिए: आँख की गुहेरी का रामबाण होमीयोपैथिक और घरेलू इलाज

आइए जानते हैं इस दर्द से निजात पाने के कुछ घरेलू इलाज और नुस्खे। 

दांत दर्द का घरेलू उपाय हिंदी (Toothache remedy at home)

दांत दर्द का घरेलू उपाय हिंदी (Toothache remedy at home)-दांत-दर्द-की-दवाई

लौंग/लौंग का तेल-दांत दर्द की लाजवाब दवा 

इसका उपयोग सदियों से दांत दर्द के इलाज के लिए किया जाता रहा है क्योंकि यह एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक मसाला है। 

लौंग से आप अपने दांतों में लगे कीड़े को आसानी से हटा सकते हैं। इसके लिए दांत में एक लौंग रखें जहां आपके कीड़े हों। इससे दांतों में कीड़ा और उसमें दर्द दोनों खत्म हो जाएंगे। 

इसके पाउडर को थोड़ी मात्रा में प्रभावित दांत पर लगाने से या लौंग को अकेले चबाने से लाभ होता है। 

पूर्व हो या पश्चिम, आधुनिक चिकित्सा में या प्राचीन चिकित्सा में लौंग के तेल को हर जगह और हर ज़माने में दांत दर्द का अमृत कहा जाता है। 

एक छोटा साफ रुई(cotton ball) लें और उसे लौंग के तेल में (2 बूंद) उस दांत पे लगाएं जहां दर्द है, थोड़ी देर में दांत का दर्द दूर हो जाएगा। 

इसके विपरीत, मेरी सलाह है कि लौंग का तेल हर घर में होना चाहिए क्योंकि यह दांतों के अलावा अन्य स्वास्थ्य समस्याओं पर लाभकारी प्रभाव डालता है। 

लौंग के तेल का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे निगला जा सकता है क्योंकि यह हमारे आहार का हिस्सा है।

लेकिन सावधान रहें, आपको इसे मसूढ़ों में लगने से बचाना चाहिये क्योंकि मसूढ़ों में लगने पर इसमें एक चुभन का एहसास होता है। 

हलाँकि घबराने की कोई बात नहीं है क्योंकि प्राकृतिक होने के कारण कुछ ही पल में इसका प्रभाव समाप्त हो जाता है।

शुद्ध 100% नेचुरल लौंग का तेल अभी तुरंत ऑर्डर करें

गुनगुने नमक के पानी से गरारे/कुल्लियाँ 

एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक मिलाकर इस पानी से गरारे करें, गरारे करते समय इस नमकीन पानी को मुंह में रखने की कोशिश करें, खासकर दांतों में जहां यह दर्द होता है।

यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि आम टेबल सॉल्ट में प्राकृतिक एंटीसेप्टिक क्षमता होती है। 

गर्म पानी मुंह के छाले पैदा करने वाले कीटाणुओं को मारता है और दर्द को कम करता है। तेज दर्द होने पर हर 2 घंटे के बाद 5 से 10 मिनट तक इसी तरह गुनगुने नमक के पानी से गरारे करना बेहतर होता है।

साथ ही आप चाहें तो एक गिलास गुनगुने पानी में डिस्पेरिन की 2 गोलियां घोलकर उससे गरारे भी कर सकते हैं, लेकिन नमक का पानी इससे कहीं ज्यादा है.

और पढ़ें: पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

टी बैग (toothache what to do)

tea bag for toothache- दांत दर्द की दवाई

एक टी बैग लें और इसे एक गिलास पानी में डुबोएं, फिर टी बैग को प्रभावित दांत पर रखें। 

अगर दांत ठंड के प्रति संवेदनशील नहीं हैं, तो दिन में एक या दो बार टी बैग को ठंडे पानी में डुबोएं। चाय में मौजूद तत्व सूजन को कम करते हैं और दर्द को कम करते हैं।

ताजमहल ब्रांड की टी बैग अभी ऑर्डर करें

खाने वाला सोडा (remedies for toothache at home)

बेकिंग सोडा में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो एक कीटाणुनाशक होने के साथ-साथ सूजन को कम करते हैं यह दांतों के संक्रमण को भी ठीक करता है। 

इसका उपयोग करने के लिए, एक कॉटन बॉल को पानी में भिगोकर बेकिंग सोडा से ढक दें। रूई को प्रभावित दांत पर रखने से दर्द कम हो सकता है।

इसी तरह गर्म पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर इस तरल से कुल्लियाँ बना लें।

दांत दर्द में फिटकरी का उपयोग

दांत दर्द में फिटकरी का उपयोग-alum for toothache
  • फिटकरी में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। दांत दर्द होने पर फिटकरी के पानी से गारारे करें इससे दांत दर्द में आराम मिलता है।
  • दांतों से प्लाक और कैविटी हटाने के लिए आप फिटकरी को माउथवॉश के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप एक गिलास पानी गर्म कर लें और उसमें चुटकी भर नमक और एक छोटा चम्मच फिटकरी पाउडर मिलाकर छान लें। ठंडा होने पर आप इस पानी को इस्तेमाल में ला सकते हैं।
  • दांत दर्द होने पर फिटकरी को रूई में रखकर छेद में दबा दें और लार टपकायें। दांत दर्द ठीक हो जाएगा। (1)

काली मिर्च(गोलकी) काम करे जैसे दांत दर्द की दवाई

काली मिर्च को पीसकर पाउडर बना लें। काली मिर्च पाउडर में थोड़ा नमक मिलाकर दर्द वाले स्थान पर लगाएं, थोड़ी देर में आपको राहत महसूस होगी

सरसों का तेल ( Toothache Pain Relief Fast)

आप दांतों में नमक, सरसों के तेल और हल्दी का इस्तेमाल करके भी अपने दांतों को कीड़ों से बचा सकते हैं। इसके लिए आप इन तीन चीजों को एक साथ मिलाकर ब्रश की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको अवश्य लाभ होगा।

जैतून का तेल

रूई को जैतून के तेल में भिगोकर प्रभावित जगह पर लगाएं, इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं।

जैतून के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो दांत दर्द और सूजन को कम करते हैं।

असली एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल अभी खरीदें

दालचीनी है दांत दर्द की दवाई

एक चम्मच दालचीनी पाउडर और 5 चम्मच शहद मिलाकर इस पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाएं जिससे दर्द कम हो जाएगा।

इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं या जब तक दर्द गायब न हो जाए।

पुदीना चाय 

एक चम्मच सूखे पुदीने के पत्तों को एक कप उबलते पानी में 20 मिनट के लिए डुबोएं, फिर चाय को ठंडा होने पर छान लें और छान लें।

यह चाय सूजन से राहत देते हुए प्रभावित हिस्से को शांत करेगी।

यह भी पढ़ें: दिमाग तेज करने के अचूक जबरदस्त उपाय

हाइड्रोजन पेरोक्साइड-दांत दर्द की दवाई

बैक्टीरिया को मारने और असुविधा को कम करने के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड के घोल से कुल्ला करें।

यह दांत दर्द से अस्थायी राहत देता है लेकिन यह थोड़े समय के लिए ही होता है जिसके बाद आपको डॉक्टर को दिखाना होता है। 

इस घोल को सादे पानी में मिलाकर कुल्लियाँ के रूप में प्रयोग करने से लाभ होता है।

लहसुन-दांत दर्द की दवाई

लहसुन एंटीसेप्टिक भी होता है और दर्द को कम करने का भी काम करता है। 

इसे पीसकर पेस्ट बना लें और प्रभावित जगह पर लगाएं या धीरे से चबाएं। दर्द कम होने तक इस प्रक्रिया को दोहराएं।

अमरूद के पत्ते से पाएँ दांत दर्द में तुरंत आराम

अमरूद के पेड़ की पत्तियां एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक होती हैं, जो न केवल दांत दर्द को कम करती हैं बल्कि मुंह के छालों और मसूड़े की सूजन से भी राहत दिलाती हैं।

ऐसा करने के लिए एक या दो पत्तों को तब तक चबाएं जब तक पसीना प्रभावित जगह पर न पड़ने लगे या कुछ पत्तों को पानी में उबालकर ठंडा कर लें और इसमें एक चुटकी समुद्री नमक मिलाएं, फिर इस घोल को माउथवॉश करें। (2)

प्याज का दांत दर्द में घरेलू उपचार

प्याज में ऐसे रसायन होते हैं जो संक्रमण पैदा करने वाले कीटाणुओं को निशाना बनाते हैं, जिससे दर्द कम होता है। इसके लिए प्याज का एक टुकड़ा लें और इसे अपने मुंह में रखें और जहां दर्द हो वहां से चबाएं. प्याज से निकलने वाला पसीना दर्द से छुटकारा पाने में मदद करेगा. प्याज के टुकड़े को प्रभावित हिस्से पर दबाएं.

हींग है दर्द निवारक 

अगर आपके दांतों में कीड़ा लगने से तेज दर्द होता है, तो आप हींग का उपयोग कर सकते हैं।

इसके लिए आप सबसे पहले थोड़ी सी हींग लें और उसमें थोड़ा सा नींबू या मौसंबी का रस डालें और इस मिश्रण को उस दांत में लगायें जिसमें आपको दर्द हो रहा है। (3)

हिमपात-दांत दर्द का दावा

एक बैग में एक छोटा आइस क्यूब रखें और फिर बैग के चारों ओर एक पतला कपड़ा लपेटें और फिर दर्द वाले दांत पर पंद्रह मिनट तक रखें ताकि नसों को सुना जा सके।

बेचैनी से छुटकारा पाने का एक और दिलचस्प तरीका है कि आप अपने हाथों को बर्फ के टुकड़े से मालिश करें, जिससे दांत दर्द कम हो जाता है। 

दरअसल, जब आपकी उंगलियां दिमाग को कूलिंग सिग्नल भेजती हैं तो यह दांतों से निकलने वाले दर्द के संकेतों को दबा देती है।

दांत दर्द का मंत्र(At home remedy toothache Treatment)

Dant dard ka nuskha

1. गाय की गोबर को सुखाकर इसे आग में जलाएं इसकी राख में थोड़ी-सी फिटकरी मिलाकर मंजन बना लें। रोजाना इसका मंजन करें।

2. हल्दी, नमक और सरसों का तेल मिलाकर नित्य मंजन करने से दांत जिंदगीभर सलामत रहते हैं।

3. आयुर्वेद में बहुत सी चीजे है l लेकिन एक नुस्खा, जो अब तक सबसे ज्यादा अच्छा है l वो है दातुन करना l

मेरे पड़ोस में एक बुढ़िया रहती थी जिसके दांत ९० साल तक नहीं गिरे इसी नुक्शे से अगर उसको नीम की दातुन ना मिले तो वो आम और जामुन सीशम की भी करती थी l

नीम की दातुन रोजाना करने से दांतों की कोई बीमारी नहीं लगती और दांत उम्रभर नहीं गिरते।

4.  सरसों के तेल में लहसुन को पीस करके गर्म करे व दर्द वाले दांत पर रुई की मदद से लगाये |

5. सरसों के तेल में नमक मिलाएं व इसे दांतों पर लगाएं |

6. लौंग को पीस करके दांतों पर लगाएं |

7. नीम व तुलसी की पत्तियों को पीसकर के दांतों पर लगाएं |

दांत दर्द की दवाई/टेबलेट नाम लिस्ट(For toothache medicine India)

Toothache medications:

Dant dard ka dawai: कभी न कभी हम सभी कमर, पीठ, दांत दर्द से परेशान होते ही हैं। हर वक्त डाक्टर के पास पहुंचना मुमकिन भी नहीं होता। 

ऐसे में बाजार में उपलब्ध दर्द निवारक गोलियों से काम चलाना पड़ता है। लेकिन कई बार यह तय करना मुश्किल हो जाता है कि किस दर्द में कौन सी गोली खाई जाए। 

आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों ने एक ऐसी सूची तैयार किया है जिससे आपको सही दर्द निवारक गोली चुनने में मदद मिलेगी।

विशेषज्ञ एंड्रयू मोरे के मुताबिक 20 हजार लोगों पर दर्द निवारक गोलियों का प्रभाव देखने के बाद इसे तैयार किया गया है।

इटोरिकाक्सिब (दांत दर्द में तुरंत आराम tablet)

आपरेशन के बाद का दर्द, जोड़ो के दर्द, गठिया, दांत का दर्द, कमर दर्द, सिरदर्द में आप इटोरिकाक्सिब (120-240 मिलीग्राम) ले सकते हैं।

डाइक्लोफेन

गठिया, माइग्रेन, सिरदर्द, गालब्लैडर में पथरी (गालस्टोन) के दर्द में डाइक्लोफेन (100 मिलीग्राम) भी असरदार होती है। 

महिलाएं इसे पीरियड के दर्द में भी ले सकती हैं। इसी तरह सेलेकोक्सिब (400 मिलीग्राम) को भी पीरियड के दौरान होने वाले दर्द या जोड़ों के दर्द में लिया जा सकता है।

पैरासिटामोल और कोडीन

आपरेशन के बाद का दर्द, पीठ दर्द, गठिया के दर्द में पैरासिटामोल (1000 मिलीग्राम) और कोडीन (60 मिलीग्राम) दोनों दवाओं को एक साथ लिया जा सकता है।

एस्पिरिन-दांत दर्द की दवाई

इस दवा से हृदयघात का खतरा नहीं होता। इस कारण यह किसी भी दर्द में ली जा सकती है। इसमें कैंसर निरोधी तत्व भी होते हैं।

आईब्रूफेन

मांसपेशियों और दांत के दर्द, मोच आने या लचक जाने से होने वाले दर्द में आईब्रूफेन (400मिलीग्राम) लेना फायदेमंद साबित होगा।

आक्सीकोडोन और पेरासिटामोल

आपरेशन के बाद का दर्द या पीठ में तेज दर्द होने पर आक्सीकोडोन 10 मिलीग्राम और पेरासिटामोल 650 मिलीग्राम दोनों दवाओं को एक साथ लेना लाभकारी होता है।

केटोरोलेक

तेज दर्द में केटोरोलेक 10 मिलीग्राम खाने से थोड़ी राहत मिलती है। ये पथरी से होने वाले दर्द या पीठ दर्द में बेहद असरदार साबित होती है।

पायरोक्सिकेम

गोल्फर्स एल्बो, खेलकूद के दौरान लगी चोट, गठिया, मोच, जोड़ो के दर्द, टेनिस एल्बो में बेहद प्रभावी।

वहीं ल्यूमेरोकोक्सिब 400 मिलीग्राम जोड़ो के दर्द से राहत पहुंचाती है। पेथाडीन 100 मिलीग्राम का इंजेक्शन सर्जरी के बाद होने वाले दर्द में राहत पहुंचाता है।

नोट/सावधान:- इन दवाओं को बहुत ज्यादा जरूरत लेने पर ही लेना चाहिए। क्योंकि पेन किलर्स के अपने साइड इफेक्ट्स भी होते हैं।

इसके अलावा अगर मुमकिन हो तो आप अपने डॉक्टर से सलाह भी ले सकते हैं।

दांत दर्द का घरेलू उपचार(toothache home remedies)

एक हेल्थ एक्सपर्ट की हैसियत से मैं कुछ सलाह देना चाहूँगा जो सबके काम आएंगीं.

  1. हर दिन दो बार ब्रश करें और कमसे कम एक बार फ्लॉस करें.
  2. खाने के बाद कुल्ला करें.
  3. जीभ साफ रखें
  4. मसूढ़ों की मालिश करें
  5. सही तरीके से ब्रश करें.
  6. फ्लोराइड युक्त पेस्ट इस्तेमाल करें. बहकावे में न आएं.
  7. झोला छाप डॉक्टरों से दूर रहें.
  8. हर छह महीने में डेंटिस्ट से मिलें.
  9. डेंटिस्ट से यही कहें कि जो आपके मुंह व दाँतों के लिए सबसे उत्कृष्ट सलाह हो वह आपको दे. इलाज में कोताही न बरतें.
  10. मीठा कम से कम खाएं.
  11. रेशेदार खाना खाएं. सलाद, फल वगैरह लें.
  12. दिनभर कुछ न कुछ खाते न रहें.
  13. चाय-कॉफ़ी और कोला जैसे पेय कम लें.
  14. चिपचिपी लिसलिसी चीज़ें न खाएं.
  15. सोने से पहले कुछ न खाएं.
  16. ब्रश-कुल्ला कर के सोएं .

अगर हम दांत दर्द से बचना चाहते हैं तो हमें दांतों की साफ-सफाई का खास ख्याल रखना चाहिए।

बच्चों को बहुत अधिक चॉकलेट न खाने दें और सुनिश्चित करें कि आप खाने के बाद अपने दाँत ब्रश करें। गर्म चाय या कॉफी के तुरंत बाद ठंडा पानी पीने से बचें।

अगर हम इन चीजों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर लें तो न सिर्फ दांतों के दर्द से बचा जा सकता है बल्कि हमारे दांत भी स्वस्थ, चमकदार और खूबसूरत नजर आएंगे।

दोस्त, इस दांत दर्द की दवाई /दांत दर्द का घरेलू उपाय लेख को ज्यादा से ज्यादा SHARE करिए।

इस पेज को FOLLOW और SUBSCRIBE भी कर लीजिए, ताकि आगे आनेवाली शानदार और जानदार पोस्ट/लेख की सूचना आपको मिलती रहे.

पढ़ने के लिए धन्यवाद/शुक्रिया 💖

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply